अवचेतन मन की शक्ति क्या है और इसका प्रयोग कैसे करें ?

अवचेतन मन की शक्ति क्या है और इसका प्रयोग कैसे करें ?अर्धजाग्रत मन जिसे हम अवचेतन मन भी कहते हैं।
अवचेतन मन की शक्ति क्या है और इसका प्रयोग कैसे करें ?
अवचेतन मन की शक्ति

अवचेतन मन के कार्य और उसकी शक्तियाँ के बारे में जानकार आपको आश्चर्य होगा –

इक्षा  मृत्यु -control of Death

आपको यह जानकार ताज्जुब होगा की आप यह भी निश्चित कर सकते हैं की आपको कहाँ , कब और कैसे मृत्यु चाहिए ।हमारे धर्मशास्स्त्रों में बहुत से उदाहरण दिए गए हैं जिसमें कुछ व्यक्तियों को इच्छा मृत्यु शक्ति प्राप्त थी । जैसे की महाभारत में भीष्म पितामह ।

आज के समय का एक ताज़ा उदाहरण देता हूँ आप सभी अब्दुल कलाम जी का नाम तो ज़रूर सुना होंगें । उन्होंने एक बार कहा था की मैं चाहता हूँ की मेरी मृत्यु लोगों के बीच में और पड़ाना मुझे बहुत पसंद है सो पढ़ाते-पढ़ाते दम निकले ।और आप सभी को पता है कि उनकी मृत्यु हिमाचल में पढ़ाते-पढ़ाते हुई थी ।

और भी ऐसे कई उदाहरण आपके पास भी मौजूद होगा ।मृत्यु यानी की शरीर में चलने वाली सभी सभी स्वयं संचालित क्रिया का बंद होना अर्थात अर्धजाग्रत मन की सभी क्रियाओं को रोक देना ।

इससे तह बात साबित होता है की हम अपने अर्धजाग्रत मन को सूचना देकर अपनी इच्छा अनुसार मृत्यु प्राप्त कर सकते हैं ।

संवेदना –

संवेदना विशेष रूप से जाग्रत मन का नियंत्रण होता है लेकिन हम जब सोते हैं तब भी कुछ अंश तक हमारी संवेदना चलती रहती है । उदाहरण के रूप में आप सो रहे हैं और टेलीफ़ोन की घंटी बजे तो आप जाग जाते हैं ।

मच्छर काटता है तब भी हमें पता चलता है । यह बात दर्शाती है की संवेदना के ऊपर जागृत मन की अनुपस्थिति में अर्धजग्रात मन का नियंत्रण होता है ।

हलन-चलन –

हलन- चलन के स्नायू भी मुख्य रूप से जाग्रत मन के आदेश से काम करता है । लेकिन कई बार अर्धजाग्रत मन का आदेश भी मानना पड़ता है , यदि ऐसा नहीं होता तो हम नींद में करवट न बदल पाते और और मच्छर काटता तो उसे मारने के लिए हाथ आगे नहीं बढ़ा पाते ।

अर्थात संवेदना और हलन-चलन के ऊपर दोनो ( जाग्रत और अर्धजाग्रत ) मन का नियंत्रण होता है ।

 

परिवर्तित क्रिया ( Refleax action) –

हम रास्ते पर नंगे पैर चल रहे हों और यदि जलती हुई सिगरेट के टुकड़े पर पैर पढ़ जाए तो एक क्षण का भी विलम्ब किए बिना हम पैर उठा लेते हैं ।

टेलीपैथी –

एक शक्ति है अवचेतन मन के पास जिसका उपयोग हम अक्सर अनजाने में करते हैं ,
इस अनोखी शक्ति का प्रयोग कैसे करते हैं –
आपने देखा होगा की हमने किसी को दिल से याद किया और उसी समय वह व्यक्ति हमारे दरवाजे को खटखटा हो रहा होता है या उसके टेलीफोन की घंटी आने लगती है।
क्या ये आश्चर्य की बात नहीं है ?
RELATED POST-
हमारे पास बहुत सी ऐसी अनोखी शक्तियां हैं ,जिसका हम जाने अनजाने में करते हैं।

ऐसे ही बहुत सारी ताकत अर्धजाग्रत मन के पास है जिसका इस्तेमाल करके आप अपनी जिंदगी में सफलता और खुशियां से भर सकते हैं। हम उन सभी वस्तुओं को प्राप्त कर सकते हैं जिनकी हम इक्षा रखते हैं।

 

इस से जुड़ा हुआ कोई भी प्रश्न आपके  तो जरूर करें और इसके अगले भाग में और भी ज्यादा अवचेतन मन की शक्ति की के बारे में बात करेंगे। 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *