आज के सुविचार

आज के सुविचार-चाहे आप जो भी सोंचें ,आपका हर दिन बेहतर से बेहतर बनता जा रहा है। कोई भी इंसान पीछे की तरफ नहीं जा सकता है। आप सिर्फ आगे जा सकते हैं और ऊपर की तरफ ही जा सकते हैं। 

जब आप आपको महसूस हो की आपकी परिस्थितियां बेहतर नहीं हो रही हैं,तो खुद को याद – आप जो थे वो आज नहीं हैं। आज कहीं ज्यादा अच्छे हैं। 

 

 

आज के सुविचार-आप जिस भी शब्द का इस्तेमाल करते हैं ,इसमें शक्तिशाली अंकुर होता है। यह अंकुर उस दिशा में फ़ैल जाता है,जिधर आपका शब्द संकेत करता है। अंततः  विकसित होकर भौतिक अभिव्यक्ति में बदल  जाता है। मिसाल के तौर पर  चैतन्य आनंद की कामना करते हैं। इसलिए आनंद शब्द के दोहराव से  कम्पन्न की गुणवत्ता तय होती है।

 

जिसे आनंद का अंकुर फैलता है और एक समय ऐसा आता है, आपका पूरा अस्तित्व आनंदमय हो जाता है। यह कोरी कल्पना नहीं ,बल्कि सत्य है।

  •                                         – जेणेवीव बेहरेंड ( 1881 -1960 ) यॉर इनविजिबल पावर।

दैनिक प्रेरणा प्रत्येक दिन के लिए एक सुविचार

 

1 प्रतिसत फार्मूला -परिवर्तन का समय आ गया है हम सभी सैंकड़ों चीजों में 1 प्रतिसत बेहतर बन सकते हैं। 1 प्रतिसत फार्मूला का प्रयोग आप अपनी जिंदगी के हर क्षेत्र में कर सकते हैं। हर कोई महान नहीं बन सकता ,लेकिन हर कोई जहाँ भी है,उससे बेहतर जरूर बन सकता है। 

 

बदलाव के लिए तैयार रहें – जब कोई बच्चा छोटा रहता है और वो अपनी माँ की गॉड में आराम महसूस करता है लेकिन जैसे ही कोई उसे माँ की गोद से लेने की कोसीस करता है तो वो बच्चा रोने लगता है।

 

क्यूंकि वो बदलाव को सहन नहीं कफर पाता है और यही हमारी आदत बड़े होने पर भी बनी रहती है,थोड़ा सा बदलाव होता नहीं है की चीखना-चिल्लाना सुरु कर देते हैं वो बच्चे की तरह ही। लेकिन हमें याद रखना चाहिए अब आप बच्चे नहीं रहे। आप बड़े हो चुके हैं इसलिए बदलाव के लिए तैयार रहें।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *