चमत्कार की उम्मीद करें -चमत्कार हो जायेगा।

चमत्कार की उम्मीद करें -चमत्कार हो जायेगा।- जब कोई व्यक्ति चमत्कार की उम्मीद करने लगता है तो उसका मस्तिष्क इतना ग्रहणशील हो जाता है की वह दरअसल चमत्कार करने लगता है।

वह चमत्कार की  वेवलेंग्थ पर पहुँच जाता है। उसकी नैसर्गिक योग्यताएं नकरात्मक के वजाय सकरात्मक रूप से केंद्रित हो जाता है। उसकी मस्तिष्क की शक्तियां सक्रीय हो जाती हैं।


 जिन नकरात्मक आशंकाओं ने उम्मीद को दूर भगा दिया था ,उनकी जगह अब सकरात्मक उम्मीदें आ जाती हैं जो सकरात्मक परिणामों को आकर्षित करती है। 


डिक्सनरी में चमत्कार की एक परिभाषा यह है  ” गुणवत्ता का अद्भुत उदाहरहण ” और हम इसी गुणवत्ता के बारे में बात करना चाहते हैं ,मस्तिष्क की वह गुणवत्ता जिसमें अद्भुत का सृजन करने की क्षमता है।

यह इस बात पर यकीं करने की काबिलियत है की हर अच्छी चीज सच हो सकती है।  यह चमत्कार की उम्मीद करने और सचमुच चम्तकार ( अद्भुत काम ) करने की क्षमता है। 


 चमत्कार की उम्मीद -करें -चमत्कार हो जायेगा- 

सबसे पहले , चमत्कार की उम्मीद करें और अद्भुत चीजों के अहसास को बढ़ाएं

प्रेरणा हासिल करें ,गहरा आत्मविश्वास रखें और कभी किसी व्यक्ति या वस्तु के कारण कम न होने दें। वाल्ट डिजनी को याद रखें।

गर्व करें  देश में रहते हैं की जहाँ चमत्कार हो सकते हैं – जहाँ अपने सपनों को हकीकत में बदल सकते हैं।

हमेशा उत्साह से सोंचें – सोंचें कभी भी अपने दिमाग को वैचारिक लकवा न होने दें।

हमेसा उस बड़े विचार की तलाश में रहें जो आपकी जिंदगी बदल सकता है।

जान लें की आप खुद एक चमत्कार हैं। और यकीं रखें की सोंचने ,प्रार्थना करने ,विस्वास करने , और लोगों की मदद करने से आप चम्तकार कर सकते हैं।

याद रखें ककी चमत्कार वे लोग , जो सोंचते है की वे कर सकते हैं। 

Related Post –

बेचना सीखो और सफल बनो

सवाल ही जवाब  है

धन्यवाद दोस्तों ,यह आज पोस्ट मैंने लिया है एक सहनदार किताब जिसका नाम है – बुलंद इरादे निश्चित कामयबी और जिसका लेखक हैं -नार्मन विन्सेंट पिल। आप  को पूरा पढ़ें। 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *