नेपोलियन की जीत का रहस्य

जीत का रहस्य- Hindi motivational story

नेपोलियन की जीत का रहस्य 

आधी रत बिट चुकी थी। अपनी शिविर में नेपोलियन गहरी नींद में था। अचानक आपातकाल की घंटी बजी। तत्क्षण नेपोलियन की आँखें खुली और उठ कर बैठ गया। 

तभी हड़बड़ाए हुए सेनापति उनके कक्ष में आये 

नेपोलियन ने  पूछा -क्या बात है ?

महाराज जिस पडोसी को हम अपना मित्र समझते थे ,उसी ने हमारे ऊपर हमला कर दिया है। मेरी समझ में नहीं आ रहा ऐसे में क्या करना चाहिए क्यूंकि हम मित्र -देश की तरफ से पूरी तरह निश्चिंत थे ,इसलिए हमने कोई रणनीति भी नहीं बनाई है। 

नेपोलियन की जीत का रहस्य
pick taken from google

“तुम निश्चिंत थे सेनापति लेकिन नेपोलियन कभी भी निश्चिंत नहीं था ,और वो कभी बेखबर नहीं रहता है। यह ठीक है की वह हमारा मित्र है ,लेकिन मित्रता की बुनियाद कितनी मजबूत है ,यह देखना  होता है।

मुझे  संदेह था की भविष्य में विश्वासघात हो सकता है ,इसलिए मैंने इस स्थति से निपटने के लिए पहले से रणनीति बना रखा है। मेज पर रखे उस नक्से को देखो और चिन्हित किये गए ठिकानों पर मोरच्बंदु करके हमला करो। जीत आज भी हमारी ही होगी। “

सेनापति तेजी से मेज की और दौड़ कर पंहुचा और नक़्शे तरफ देखा ,और नक़्शे का अध्यन करने लगा। 

सेनापति को आश्चर्यचकित देखकर नेपोलियन मुस्कुराया और बोला -विचारसील लोग अच्छी से अच्छी आशा करते हैं ,किन्तु बुरी से बुरी परिस्थति के लिए भी तैयार रहते हैं। 

जिस बात की कल्पना नहीं थी ,नेपोलिया को पहले अंदेशा था। उसने मित्र समझे  के विरुद्ध ठोस रणनीति बना राखी थी। कारण था नेपोलियन हमेसा विजता रहता था। और इस युद्ध में भी नेपोलियन ही जीता। 

इस कहानी नेपोलियन की जीत का रहस्य  से  शिक्षा मिलती है –

जो सदैव चौकन्ने ,सतर्क और जागे रहते ,उन्हें  कोई नहीं हरा सकता। 

नेपोलियन की दूरदर्शिता और सूझबूझ ने ही उसे विजेता बनाया। 

जीवन संग्राम में मित्रों को शत्रु और शत्रुओं को मित्र बनते देर नहीं लगती ,अतः व्यक्ति को नेपोलियन की भांति हर स्थिति के लिए स्वयं को पहले से तैयार रखना चाहिए। 

सफलता के नसे में चूर होकर लापरवाह नहीं हो जाना चाहिए। 

जीत का रहस्य-सफलता पाना बड़ी बात है पर सफलता को बरकरार रखना उससे भी बड़ी और अहम् बात है।

 

Related post –

एक लड़की की जीवन बदल देने वाली कहानी  

सफल लोगों के अनमोल वचन 

करसन भाई पटेल

 

यह कहानी मैंने सूर्या सिन्हा जी के किताब कहानियां बोलती से लिया है उम्मीद करता हूँ आपको पसंद आया होगा। 

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *