नेटवर्क मार्केटिंग

नेटवर्क मार्केटिंग-आपका बहुत-बहुत स्वागत KadvePravachan.com पर आज नेटवर्किंग के बारे  करेंगे।

 

आइये दोस्तों आज आपको बताते हैं , क्या नेटवॉटक मार्केटिंग एक लीगल बिज़नेस है या नहीं और दूसरा की किस तरह की कम्पनी भागती है

और किस प्रकार की कम्पनी में आपको जुड़ना चाहिए।

आज 21 वी सदी का सबसे क्रन्तिकारी तरीका है नेटवर्क मार्केटिंग है। लेकिन लोगों के मन में नेटवर्क मार्केटिंग बहुत से सवाल होते हैं –

लेकिन मैं आपको बता देना चाहता हूँ की सच में नेटवर्क मार्केटिंग एक बहुत ही शानदार और बिज़नेस की तरह ही है

जिसे आप बहुत कम इन्वेस्टमेंट के साथ शुरुआत कर सकते हैं। इस बिज़नेस की खास बात यह है की आपको जो भी चैलेंज आने वाला है पहले ही पता चल जाता है और परिणाम भी।

नेटवर्क मार्केटिंग कम्पनी आज के समय की जरुरत है क्यूंकि आपको पता है जॉब की मारामारी और यदि आपका कैसे करके लग भी जाये तो बॉस जीना हराम कर देता है।

तो यदि आपको समय की आजादी और पैसे की आजादी चाहिए तो आपको अपना नेटवर्क बनाना पड़ेगा। और नेटवर्क बनाने के लिए आपको सीखना पड़ेगा।

 

चेतावनी -एक महत्वपूर्ण बात इसमें भी और बिज़नेस की तरह ट्रेनिंग की जरुरत होती है और उसके बाद भी

अन्य व्यवसाय के तरह ही कोई गॉरन्टी नहीं होती है की आप सफल हो ही जाएँ।

 

स्कोप इन इंडिया -अगर मैं भारत में बात करें तो बहुत कम लोग नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी में जुड़े है

अगर एक सर्वे के अनुसार और एक किताब में छपे लेख के अनुसार भारत की जनसंख्या है 1 अरब 30 करोड़ लेकिन

इसमें सिर्फ ५ करोड़ लोग ही नेटवर्क मार्केटिंग में ज्वाइन हुए हैं और सफल चंद मुट्ठी भर लोग।

लेकिन धीरे-धीरे सफल लोगों की संख्या बढ़ रही हैं और लोग जागरूक भी हो रहे हैं।

 

नेटवर्क मार्केटिंग क़ानूनी है गैर क़ानूनी – इस बात के लिए मैं कहना चाहूंगा की नेटवर्क मार्केटिंग लीगल है भारत में।

वो कम्पनी जो भारत सरकार के कंस्यूमर अफेयर्स के अंतर्गत रेजिस्टर्ड हो।

आप कंपनी में ज्वाइन  पहले कुछ  जरूर ध्यान रखें की कुछ कम्पनी रहने वाली होती है तो कुछ भागने के लिए ही आती है।

आइये समझते हैं कौन सी कम्पनी में नहीं भागती है –

नेटवर्क मार्केटिंग-कौन सी कंपनी भागती है

आप भी सोंचते होंगे की कौन सी कंपनी में जुड़े और कौन से में नहीं। मैं इस परिस्थिति को समझ सकता हूँ ,

क्यूंकि मुझे भी नेटवर्क मार्केटिंग कम्पनी में आने पहले ऐसी बहुत सी बातों का असमंजस था।

लेकिन आप भी जानते हैं की दुनिया में चीजें एक सामान नहीं होती है। अगर रूपया असली है तभी उसका नकली बनता है।

एक पानी का गिलास होता है और एक बुलेट प्रूफ सीसा होता है ,पानी के गिलास वाला सीसा तुरन्त टूट जाता है

और बुलेट प्रूफ सीसा पे आप गोली भी मारो तो टूटता नहीं है।

 

इससे यह सिद्ध होता है की दुनिया में दो तरह की कम्पनियां होती है एक रहने वाली और एक भागने वाली।

कंपनी के भागनेके पीछे मूलतः कुछ कारण होते हैं –

जो गैर क़ानूनी हो

आपको बता दें वैसे तो भारत सरकार भी बहुत प्रयास कर रही है की ग्राहक को जागरूक करें और समय-समय पर लोगों के लिए advisroy

और gudielines पारित करती रहती है। आपको बता दें की अभी-अभी कुछ दिन पहले कंस्यूमर अफेयर ने गाइडलाइन्स निकला है की

अगर ये-ये पॉइंट्स है तो ये कंपनी लीगल है 209 कंपनियों की लिस्ट निकाला है।

 

जो घाटे में आ जाये

नेटवर्क मार्केटिंग कम्पनी ही नहीं कोई भी कम्पनी बंद हो अजयेगी यदि वो घाटे में आ जाये तो।

जिसका मैनजेमेंट फेल हो जाये

यदि कम्पनी का मैनजमेंट सही ना हो तो।

वो कंपनी को जो बहुत सारा पैसा इकठ्ठा कर ले

ऐसी कम्पनी जो आपको प्रयास करती है की आपको कुछ करना नहीं पड़ेगा बस आपको तो जुड़ जाना है और बैठे-बैठे पैसा आएगा।

हर महीना निश्चित तौर पर आपको पैसा आता रहेगा।

आपको पता होना चाहिए की नटवर्क मार्केटिंग भी एक आम बिज़नेस की तरह ही है और इसमें भी अप -डाउन होता है

अगर कोई फिक्स पैसे देने का वादा करती है तो आप सावधान हो जाएँ।

ऐसी कम्पनी का मकसद ही भागने का होता है। लालच में ना आएं।

अपनी अक्ल लगाएं बिना काम के पैसा नहीं आता काम तो आपको करना ही होगा।

 

निवेदन –आपसे निवेदन है की अगर पोस्ट आपको अच्छा लगे तो कमेंट जरूर करें।

 

Related Post

Impotant Nine Things IN Network Marketing For Success

अपलाइन पुराण

उठना सीखो 

21 वी सदी का व्यवसाय

 

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *