आज के विचार

आज के विचारक्या आपने भी इस विचार को पकड़ रखा है ?




मेरे पास दान देने के लिए पैसा नहीं है ,जब पैसा होगा मेरे पास तब दान दूंगा। अगर ऐसी बात है तो आपके पास पैसा कभी नहीं होगा। किसी चीज को आकर्षित करने का सबसे तेज तरीका इसे किसी दूसरे को देना है ,

इसलिए अगर पैसे को आकर्षित करना चाहते हैं ,तो इसे दान करें। आप 10 या  ,5 या  , 1 या कितने भी रूपये दे सकते हैं। इस से कोई फर्क नहीं पड़ता की आप कितनी राशि देते हैं। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता की कितना और कहाँ दिया, बस दें।

 

 

तनाव ,चिंता और दबाव अपने विचारों को भविष्य में पहुँचाने और किसी बुरी चीज की कल्पना करने से आते हैं। यह उस चीज पर ध्यान केंद्रित करना है,जिसे आप नहीं चाहते हैं! अगर आपको यह लगने लगे की आपका नकरात्मक ढंग से भविष्य की ओर जा रहा है , तो वर्तमान पर गहराई से ध्यान केंद्रित करें। खुद को वर्तमान में बनायें रखें।




अपनी सम्पूर्ण इक्षाशक्ति का इस्तेमाल करें और इसी पल अपने मन को केंद्रित करें ,क्यूंकि इस पल में ही पूर्ण शांति है।

 

अगर आप प्रेम की तलाश में हैं तो आदर्श व्यक्ति ( चाहे वह जो भी हो ) के साथ पूर्ण आनंद पाने की सर्वश्रेष्ठ सम्भावना तब होती है ,जब आप सृष्टि  समर्पण कर देते हैं।

सृष्टि को मौका दें की वह आपके जीवन के प्रेम को आपकी ओर लाए और आपको उसकी ओर ले जाए। इसका मतलब है की आपको रास्ते से हटना होगा और उन संभावनाओं के प्रति ग्रहणशील बनना होगा ,जो सृष्टि आपके सामने पेश करेगी।

 

आज के विचार -हमारे संकुचित दृष्टिकोण से हम हर चीज नहीं देख सकते ,लेकिन अपने समग्र दृष्टिकोण से दृष्टि आदर्श जोड़ी बनाना जानती है।

 

शब्दों में दयालुता से विस्वास उत्पन्न होता है। सोंच में दयालुता से गहराई उत्पन्न होती है।  दयालुता से प्रेम उत्पन्न होता है।




 

 

RELATED POST

 

दैनिक प्रेरणा प्रत्येक दिन के लिए एक सुविचार

दिमाग और मन बिच फर्क 

इंसान जो सोंचता है वही बन जाता है




Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *