विजय गीत-प्रेरणा से भर देने वाला विजय गीत short poetry in Hindi

यह विजयगीत आपके लिए है , यह मैंने लिया है किताब से जिसका नाम है -विजय गीत-प्रेरणा से भर देने वाला विजय गीत ।

 

अगर कोई व्यक्ति अपने सपने सच करना चाहता है ,तो सबसे पहले उसे जाग जाना चाइये।
– भारतीय कहवत।

जब में उड़ने की उमंग हो ,तो कोई भी रेंगने के लिए तैयार नहीं हो सकता।
– हेलन केलर।

आप अपनी जिंदगी के रचियता बन सकते हैं……या फिर आप अपनी परिस्तितियों के सीकर बन सकते हैं। यह आप पर निर्भर करता है।खुस व्यक्ति खास परिस्तित्यों में रहने वाला नहीं , बल्कि खास नजरिये वाला होता है।
-हयू डाउन्स

विजय गीत

तुम ही वह आदमी हो जो डींगे हांका करते थे

की तुम चोटी पर पहुंचोगे

किसी दिन !

तुम सिर्फ एक मौका चाहते थे ,

साबित करने का की तुम में कितना ज्ञान था

और यह की तुम कितनी दूर तक जा सकते हो… …

हमने एक साल गुजर लिया है।

कितने नए विचार आपके पास आये ?

समय……. ने आपको बारह ताजे महीने दिए

आपने उनमें से कितनों का

लाभ लिया और साहस के साथ प्रयास किया

उस काम को करने का जिसमें आप अक्सर असफल होते थे ?

हमें आपका नाम सफल लोगों की सूची में नहीं मिला।

इसका कारण बतायें !

नहीं आपके पास अवसर की कमी नहीं थी।

हमेशा की तरह……आप काम करने में असफल रहे।

 

दोस्तों याद रखें जीवन में कई बार हमें सफलता मिलने से पहले असफलता भी मिलती है तो उस समय हिम्मत नहीं हारना चाहिए। अपने आप पे उस समय विस्वास करना जरुरी है।

और उस समय जब भी आपको लगे अब आप सफलता से दूर हो रहे हैं ये विजय गीत जरूर काम आएगा और आपको अपने ऊपर विस्वास बढ़एगा

यदि हमने अपने आप पे विस्वास कर लिया तो जीवन में सफलता तय है।

 

RELATED POST-

पांचवीं आदत -पहले समझने की कोशिश करें,फिर समझे जाने की

धन्यवाद दोस्तों ,

उम्मीद करता हूँ  आज का ये पोस्ट विजय गीत-प्रेरणा से भर देने वाला विजय गीत पसंद आया होगा। अगर आपको अच्छा लगा हो  शेयर करना न भूलें।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *