सफलता का राजमार्ग

सफलता का राजमार्ग –

saflta ka marg
file

असफलता ,सफलता हसिल करने का राजमार्ग है। आई.बी.एम.के टॉम वाटसन , सीनियर का कहना है – अगर आप सफल होना चाहते हैं तो अपने असफलता के दर को दूना कर दीजिये।

loading…

सफलता की सारी कहनियों के साथ महान असफलताओं की कहानी भी जुडी होती है।



फर्क केवल इतना था असफलता के बाद वे जोश के साथ उठ खड़े हुए। इसे पीछे धकलने वाली नहीं , बल्कि बढ़ाने वाली नाकामयाबी कहते हैं। हम सीखते हुए आगे बढ़ते हैं। हम अपनी असफलताओं से सबक लेते हुए आगे बढ़ते हैं।

सन 1914 में थॉमस एडीसन ( Thomas Edison ) की फैक्ट्री जल गई। उस समय उनकी उम्र 67 साल थी। एडिशन जवान नहीं रह गए थे। और फैक्ट्री का बिमा बहुत थोड़े पैसों का था। इसके बावजूद अपनी जिंदगी भर की म्हणत को धुआँ बन कर उड़ते देख कर उन्होंने कहा -यह बरबादी बहुत कीमती है और भगवान मुझसे कुछ और चाहता है। भगवन ने हमारी साडी गलतियों को जला दिया। मैं ईश्वर को धन्यवाद देता हूँ की उन्होंने हमें नई शुरुआत करने का मौका दिया। कितने महान विचार ?

उस तबाही के तीन हफ्ते के बाद ही उन्होंने फोनोग्राफ का अविष्कार किया। क्या शानदार
नजरिया है।


आगे सफल लोगों की असफलताओं के कुछ उदाहरण दिए गए हैं –

 

  • थॉमस एडिशन का बल्ब बनाने से पहले लगभग दस हजार बार असफल हुए।

  • हेनरी फोर्ड 40 साल की उम्र में दिवालिया हो गए थे।

  • बीथोवान जब युवा थे , तो उनसे कहा गया था की उनमें संगीत का टैलेंट नहीं है ,लेकिन उन्होंने संसार को संगीत की कुछ उत्तम रचनाएँ दी है।

  • अमिताभ बच्चन को रेडियो के जॉब के लिए आयोग्य समझा गया।

  • अब्दुल कलाम पेपर बेचते थे।

हमें असफलता से निराश नहीं होना चाइए।हमें रस्ते में ठोकरें लगेंगी।लेकिन वह हमारे लिए प्रेरणा भी बन सकती है और हमें विनम्रता का पाठ पड़ा सकती है । इससे हम मुसीबत की घड़ी में अपने अंदर बाधाओं को दूर करने की शक्ति और विस्वास को अनुभव करेंगे।

हर ठोकर लगने के बाद खुद से पूछें हमने इस तजुर्बे से क्या सीखा ?तभी हम रस्ते  रोड़े को सीढ़ी बना पाएंगे।

मेरी पीढ़ी की सबसे बड़ी खोज यह है की लोग अपना नजरिया बदलकर अपनी जिंदगी बदल सकते हैं।
-विलियम जेम्स।

धन्यवाद दोस्तों , उम्मीद करते हैं आपको मेरा पोस्ट पसंद आया होगा ।यह मैंने पोस्ट लिया है जीत आपकी किताब से। इसके लेखक हैं शिव खेड़ा जी।

Loading…

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *