सर्वश्रेष्ठ बनें

सफलता के लिए सर्वश्रेष्ठ बनें। खुद को आजीवन विकास और व्यक्तिगत उत्क्रिस्टता  प्रति समर्पित।  इसमें जबरदस्त समर्पण ,आत्म -अनुसासन और इक्षाशक्ति की जरुरत होती है।

जब भी आप हर बार नया सीखते हैं और उसपर अमल करते हैं ,तो हर बार आपको शक्तिशाली बनने का अहसास होगा। 

सबसे पहले आपको यह याद रखना होगा की आप यदि बाज बनना चाहते हैं तो आज ही कौवे का साथ छोड़ दें ,बाज का ही अनुकरण करें। 

सर्वश्रेष्ठ बनने के लिए कुछ कदम दिए जा रहे हैं जिस पर आप चलकर सर्वश्रेष्ठ बन सकते हैं। 

आज ही स्वयं में निवेश करने और निरंतर बेहतर बनने का निर्णय लें ,जैसे की आपका भविष्य इस पर निर्भर हो-क्यूंकि यह सचमुच निर्भर है। 

अपनी  सभी योग्यताओं को पहचानें जिनसे ऑफिस में मिलने वाले परिणामों की गुणवत्ता और मात्रा तय होती है। इसके बाद हर महत्वपूर्ण योग्यता में माहिर बनने की योजना बनायें। 

अपने क्षेत्र के किसी शीर्षस्थ व्यक्ति को चुनें ,जिसकी आप सबसे ज्यादा कद्र करते हों। उसे अपनी प्रगति का रोल मॉडल बना लें। 

तीन से पांच साल तक आगे देखकर यह अनुमान लगाएं की भविष्य में अपने क्षेत्र में अग्रणी रहने के लिए आपको किस ज्ञान की जरुरत और आज से ही सीखना सुरु कर दें 

आज ही आजीवन ज्ञान को अर्जन की प्रक्रिया के प्रति समर्पित हो जाएँ। किसी क्षेत्र में बेहतर बनें बिना एक दिन भी न गुजरने दें। 

अपने लक्ष्य को हरदिन दोबारा लिखें। -जब आप हर सुबह अपना लक्ष्य दोबारा लिखते हैं ,यो आप दिन भर इन लक्ष्यों तक पहुंचने के अवसर तलाशेंगे या उनके बारे में सोंचेंगे। आपका  एकाग्रता बढ़ेगा। 

अपनी आर्थिक स्थिति को पूरी तरह से स्वीकार करें और अपनी आर्थिक स्थिति के समस्यायों के लिए दूसरे को दोष देना बंद कर दें। अब वो कदम उठायें जिससे की आपकी आर्थिक स्थति बेहतर हो सके। 


हम वही बन जाते हैं ,जो हम बार -बार करते हैं ; यानि उत्क्रिस्टता कोई कार्य नहीं ,बल्कि एक आदत है। -अरस्तु। 

positive shareing
1Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *