डर – साहस डर की अनुपस्थिति नहीं !

जिस चीज़ को करने से आपको डर लगता हो, उसे कर दें और उसे करते रहें …. यह डर पर विजय पाने का सबसे तेज़ और सबसे अचूक तरीक़ा है, जो आज तक खोजा गया है ।

  • डेल करनेगी। 

लोग जिन चीज़ों में सफल नहीं होते उनमें आधे से ज़्यादा कारण यह होता है की वे कोसिस करने से डर जाते हैं ।

स्वयं से प्रश्न
from google

जेम्स नोर्थकोट ।

साहस डर की अनुपस्थिति नहीं, बल्कि यह निर्णय है कि कोई दूसरी चीज़ डर से ज़्यादा महत्वपूर्ण है ।

  • एम्ब्रॉज रैडमून ।

ग़लती – कभी ग़लती करने से ना घबराएँ ।लेकिन यह पक्का कर लें की आप एक ही ग़लती दो बार ना करें ।

  • आकियो मोरिटो ।

जल्दबाज़ी में महान बन्ने की कोसिस से सावधान रहें । १०००० में से एक कोसिस कामयाब हो सकती है । यह भयंकर सम्भावना है ।

  • लू गहरिग ।

जीवन में आपको वही मिलता है, जिसे माँगने का  आपमें साहस होता है ।

  • ओपरा विनफ़्री ।

जीवन में छोटी चीज़ों का आनंद लें, क्यूँकि एक दिन पलटकर देखेंगे और आपको अहसास होगा की वह बड़ी चीज़ें थी ।

  • रॉबर्ट ब्राल्ट ।

मुझे प्रशिक्षण के हर मिनट चिढ़ होती थी । लेकिन मैंने कहा, मैदान मत छोड़ो । अभी प्रशिक्षण ले लो और बाक़ी ज़िंदगी चैम्पीयन की तरह ही जीयो ।

  • मुहम्मद अली ।

कोई भी हमें हरा नहीं सकता, जब तक कि पहले हम ख़ुद को ना हरा दें ।

  • जेन क्रिश्चयन समटश ।

आप चाहे जिस मार्ग पर चलने का फ़ैसला करें , कोई ना कोई आपको बताता है की आप गलत हैं । मुश्किलें खड़ी होती है । जिससे आपके मन में यह मानने का प्रलोभन जागता है की आपके आलोचक सही कहते हैं । किसी दिशा का नक़्शा बनाना और फिर अंत तक उसका अनुसरण करने के लिए सैनिक के बराबर साहस की ज़रूरत होती है ।

– राल्फ़ वोल्डो इमरसन ।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *