हमेशा लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित करें

सफलता के लिए छठा महामंत्र है हमेशा लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित करें। अपने सपनों ,लक्ष्य और भविष्य दृष्टि ध्यान केंद्रित करना। हमें यह याद रखना चाहिए की दृष्टि से पैसा बनता हैऔर दूर-दृष्टि से बहुत सारा पैसा बनता है। हमेशा लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित करें जिनके हौसलों में जान होती है।

 

 

आसमाँ से ऊँची उनकी उड़ान होती है। 

जो सपने देखकर उन्हें सच करना जानते हैं। 

सिर्फ वही लोग होते हैं जो लक्ष्य तक पहुँचते हैं। 

 

टी.ई. लॉरेस ने क्या खूब कहा है – सपने सब देखते हैं मगर जो रात में अपने मष्तिस्क के धुल भरे गलियारों में सपने देखते हैं वे जागने पर पाते हैं हैं की यह तो सिर्फ कपोल की कल्पना थी मगर दिन में सपने देखने वाले खतरनाक होते हैं क्यूंकि वे यह सुनिश्चित करने के लिए खुले आँखों से सपने देखते हैं की उनके सपने साकार हो जायेंगे।

 

 

सफल होने के लिए तीन चीजें बहुत जरुरी है पहला अपना सपना खोजें , दूसरा सपने को साकार करने पर ध्यान लगाएं और तीसरा अपने सपनो को सच के लिए संगर्ष करें तब तक न रुकें जब तक की आप अपने सपनों को प्राप्त नहीं कर लेते हैं।

 

 

महान कवी हरिवंश राय बच्चन की कविता है 

 

 

नन्ही चींटी जब दाना लेकर चलती है ,

चढ़ती दिवार पर सौ बार फिसलती है

मन का विस्वास रगों में साहस भरता है ,

चढ़कर गिरना गिरकर चढ़ना न अखरता है

आखिर मिनट बेकार नहीं होती ,

हिम्मत करने वालों की हार नहीं होती।

 

 

याद रखें की हर महान उपलब्धि ,हर अविष्कार किसी ना किसी का सपने का परिणाम है। आप अपने आसपास मौजूद चीजों पर निगाह डालिये तो आप पाएंगे की सबकुछ किसी न किसी के सपने परिणाम हम देख रहे हैं।

 

 

सपने को साकार होने में समय तो लगता है पर सपना आपका साकार जरूर होगा। आपको यह भी याद रखना चाहिए की हर बड़े सपने के लिए लोगों ने उनका मजाक उड़ाया था ,आपका भी उड़ाया जाएगा और यदि आपके सपने का मजाक लोग बना रहे हैं तो आप सही रास्ते पर हैं। जुटे रहें

 

याद रखिये हम सभी को भगवान ने ही बनाया है और भगवान आपको जितने के लिए पैदा किया है।हमेशा लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित करें

 

 

 

सफलता के लिए 10 महामंत्र

1.विस्वास करना सीखें

2.आत्मछवि

3.दूसरों  के साथ आपका रिश्ता

4.सीखते रहने का गुण विकशित करें

5.कल्पना शक्ति को पहचान

6.हमेशा लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित करें

7. अपना रोल मॉडल सावधानी से चुनें

8. सकरात्मक सोंच

9. जिम्मेदारी लेना सीखें

10. जो बनना चाहते हैं वैसा महसूस करें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *