सकारात्मक नज़रिया

सम्बंध ,सामर्थ्य ,नज़रिया ,नेतृत्व इन चार क्षेत्रों पर महारथ हासिल करने से कोई भी व्यक्ति सफल हो सकता है । लेकिन इन चार क्षेत्रों में मुझे सबसे ज़्यादा ज़रूरी लगा नज़रिया । तो मैंने सोंचा क्यूँ आपसे नज़रिया के बारे में बात किया जाए ।      जितनी जानकारी पिछले...
Continue reading »

प्रार्थना कैसे करें ?

प्रार्थना करते हुए पर्फ़ेक्शन की चिंता मत कीजिए । आप बस ईश्वर से बात कीजिए जैसे आप एक सच्चे मित्र से करते हैं ।यूँ भी उसको वह पता है , जो आप कहेंगे और वह भी जो आप नहीं कहेंगे । – पावर सूत्र –...
Continue reading »

आप किस श्रेणी के हैं

आपको ईमानदारी से सोचना है कि आप किस श्रेणी में हैं और भविष्य में आप किस श्रेणी में जाना चाहते हैं ।   तीन भाई पढ़ाई के बाद नौकरी के लिए शहर चले गए । संयोगवश तीनों को एक ही कम्पनी में नौकरी लग गई...
Continue reading »

सबसे बड़ा मूर्ख

एक बार राजा अकबर ने सभा बुलाई और बीरबल से कहा - बीरबल तुम मुझे देश सभी मूर्खों की सूची चाहिए । साथ में मुझे यह भी जानना है कि सबसे बड़ा मूर्ख कौन ?     संयोग से जिस दिन राजा अकबर ने ये...
Continue reading »

कनविंस की शक्ति

यदि आप कनविंस की शक्ति से लैश हो जाएँ तो हर क़दम जीत आपकी निश्चित होगी । कनविंस का सामान्य अर्थ होता है किसी को किसी बात को समझाना, विश्वास दिलाना , अपनी बात को सही ढंग से रखना । मोटिवेटेर, वक़ील , धर्मपराचारक, व्यक्ति...
Continue reading »

मंदिर का मूर्ति

किसी स्थान पर संगमरमर का एक विशाल  भव्य मंदिर था। संगमरमरके अतिरिक्त वहां किसी दूसरे पत्थर का प्रयोग किया नहीं गया था। मंदिर में भगवन की प्रतिमा भी संगमरमर की ही थी।   लोग आते जाते मंदिर के बगल में जुटे उतारते , भीतर जाकर...
Continue reading »

Translate »