मन गांठें खोलो

मन गांठें खोलो-hindi story
आज के पोस्ट में एक शानदार कहानी जो की मैंने सूर्या सिन्हा के किताब कहानी बोलती है से लिया है ,कहानी का शीर्षक है – मन  गांठें खोलो मन  गांठें खोलो -पुराने ज़माने की बात है। एक व्यापारी ऊंटों पर सामान लादकर शहर-शहर जाता और...
Continue reading »

असली या नक़ली

एक राजा के पास एक व्यक्ति आया और बोला – राजा साहब मुझे काम चाइए । तब राजा ने पूछा तुम क्या कर सकते हो ? क्या तुम्हारे अंदर कुछ गुण हैं ?उस व्यक्ति ने जवाब दिया – राजा साहब मैं कुछ ही दिनो में...
Continue reading »

Translate »