गर्म पानी की थैरिपी

गर्म पानी की थैरिपी-

आज मैं एक समाचार चैनल देख रहा था जिसमें एक आर्मी के कर्नल रैंक अधिकारी बता रहे थे उन्होंने गर्म पानी की थैरिपी से 11 कोरोना वायरस से ग्रसित लोगों का उपचार किया है ऐसा नहीं है उन्हें दवाइयां नहीं दी गई थी पर वो कर्नल साहब बता रहे थे की गर्म पानी से ज्यादा असर हुआ ,

गर्म पानी का अनुभव कुछ ऐसा ही  है,मनो आपने सोना बाथ लिया हो। इससे शरीर की शुद्धि होती है,कैसे ?

तब मुझे यह पोस्ट लिखने का विचार आया जब गर्म पानी में इतना फायदा है तो क्यों और भी लोगों को इसके बारे में बताया जाये –

गर्म पानी का अनुभव कुछ ऐसा ही  है,मनो आपने सोना बाथ लिया हो। इससे शरीर की शुद्धि होती है,कैसे ? यह इस प्रकार से हमें मदद करता है –

जब आप गर्म पानी पीते हैं तो आपका शरीर का तापमान बढ़ जाता है।   

गर्म पानी का औसत तापमान 98.6  डिग्री फॉरेनहाइट तक बनाये रखने से आपके शरीर से पसीना छूटने लगता जो की आपको सोना बाथ का आनंद देता है। बॉडी पसीना निकलकर खुद को ठंढा करता है। 

गर्म पानी पिने से से नर्वस सिस्टम सही रहता है ,उसमें डिपॉज़िट भी खत्म होते हैं ,माना जाता है की ये डिपॉज़िट हमारे शरीर पर नकरात्मक प्रभाव डालता है। 

गर्म पानी पिने से आप अपने बॉडी और मन को शुद्ध कर सकते हैं। 

इससे शरीर के जोड़ ठीक रहते हैं,लचीलापन बना रहता है ,आपको जोड़ों में दर्द की शिकायत नहीं होगी। 

आपका वजन भी कम करने में सहायक होता है ,सहन शक्ति बढ़ता है। 

इससे मांशपेशियां की सूजन घटती है 

खुद की शुद्धि के लिए हर रोज गर्म पानी ही पिने कोसिस करें ,पानी इतना गर्म हो की पसीना छूटने ,पर आपका मुँह नहीं जलना चाहिए। शरीर अपना तापमान घटना पसीना छूटने लगेगा। जब पसीना आना बंद हो जाये फिर पानी पिने की कोसिस करें जिससे आपके शरीर का तापमान का संतुलन बना रहे। 

अगर आप बीमार हैं तो गर्म पानी आपके लिए दवा का काम करेगी। 

यदि आपको सादा गर्म पानी पिने का मन  है तो आप नीबू मिला लें। 

RELATED POST-

चंदन का इस्तेमाल

नेपोलियन की जीत का रहस्य 

प्रार्थना 

positive shareing
0Shares

सर्वश्रेष्ठ बनें

सफलता के लिए सर्वश्रेष्ठ बनें। खुद को आजीवन विकास और व्यक्तिगत उत्क्रिस्टता  प्रति समर्पित।  इसमें जबरदस्त समर्पण ,आत्म -अनुसासन और इक्षाशक्ति की जरुरत होती है।

जब भी आप हर बार नया सीखते हैं और उसपर अमल करते हैं ,तो हर बार आपको शक्तिशाली बनने का अहसास होगा। 

सबसे पहले आपको यह याद रखना होगा की आप यदि बाज बनना चाहते हैं तो आज ही कौवे का साथ छोड़ दें ,बाज का ही अनुकरण करें। 

सर्वश्रेष्ठ बनने के लिए कुछ कदम दिए जा रहे हैं जिस पर आप चलकर सर्वश्रेष्ठ बन सकते हैं। 

आज ही स्वयं में निवेश करने और निरंतर बेहतर बनने का निर्णय लें ,जैसे की आपका भविष्य इस पर निर्भर हो-क्यूंकि यह सचमुच निर्भर है। 

अपनी  सभी योग्यताओं को पहचानें जिनसे ऑफिस में मिलने वाले परिणामों की गुणवत्ता और मात्रा तय होती है। इसके बाद हर महत्वपूर्ण योग्यता में माहिर बनने की योजना बनायें। 

अपने क्षेत्र के किसी शीर्षस्थ व्यक्ति को चुनें ,जिसकी आप सबसे ज्यादा कद्र करते हों। उसे अपनी प्रगति का रोल मॉडल बना लें। 

तीन से पांच साल तक आगे देखकर यह अनुमान लगाएं की भविष्य में अपने क्षेत्र में अग्रणी रहने के लिए आपको किस ज्ञान की जरुरत और आज से ही सीखना सुरु कर दें 

आज ही आजीवन ज्ञान को अर्जन की प्रक्रिया के प्रति समर्पित हो जाएँ। किसी क्षेत्र में बेहतर बनें बिना एक दिन भी न गुजरने दें। 

अपने लक्ष्य को हरदिन दोबारा लिखें। -जब आप हर सुबह अपना लक्ष्य दोबारा लिखते हैं ,यो आप दिन भर इन लक्ष्यों तक पहुंचने के अवसर तलाशेंगे या उनके बारे में सोंचेंगे। आपका  एकाग्रता बढ़ेगा। 

अपनी आर्थिक स्थिति को पूरी तरह से स्वीकार करें और अपनी आर्थिक स्थिति के समस्यायों के लिए दूसरे को दोष देना बंद कर दें। अब वो कदम उठायें जिससे की आपकी आर्थिक स्थति बेहतर हो सके। 


हम वही बन जाते हैं ,जो हम बार -बार करते हैं ; यानि उत्क्रिस्टता कोई कार्य नहीं ,बल्कि एक आदत है। -अरस्तु। 

positive shareing
1Shares

चंदन का इस्तेमाल

चंदन का इस्तेमाल -आज तनाव भरी जिंदगी और प्रदूषण त्वचा की रंगत चुरा लेता है। त्वचा बेजान हो जाता है इसके लिए चंदन का इस्तेमाल सुरु करें।


चंदन का इस्तेमाल क्यों करें ?

चंदन से ना केवल  रंगत निखार सकते हैं बल्कि कील-मुहांसे ,आंखों के निचे काळा घेरे के समस्याओं से भी छुटकारा प् सकते हैं। चंदन के इस्तेमाल  चेहरे पर निखार आता है।

आयुर्वेद चन्दन को बेहतरीन सौंदर्य उत्पाद माना गया है। आप चन्दन का लेप लगा कर गर्मी की झुलसी त्वचा तथा खाना बनाते समय जल जाने पर बहुत आराम देता है चंदन का प्रयोग।

चंदन में एंटीबॉयटिक तत्व पाए  जाते हैं जो त्वचा को बिभिन्न प्रकार के संक्रमण से बचाता है। फोड़े-फुंसी पर चन्दन का लेप लगाने से जल्दी ठीक हो जाते हैं।




ऐसे करें चंदन का इस्तेमाल 

 

    • एक बड़े चम्मच के एसेंशियल ऑइल में चुटकी भर हल्दी और कपूर मिलाएं इस लेप को अपने चेहरे पर लगा कर रात भर छोड़ दें। इसके नियमित इस्तेमाल से रूखी-सुखी  त्वचा ,एक्ने का दाग, और ब्लैकहेड्स के समस्या से छुटकारा मिल जाता है। 

    • एक बड़े चम्मच चंदन पाउडर में छोटा चम्मच नारियल का तेल और थोड़ा सा निम्बू का रस मिलकर लेप बना लें। इसे अपने चेहरे पर आधे घंटे के लिए छोड़ दें कर गुनगुने पानी से  चेहरे को धो लें। इस लेप इस्तेमाल से आपको एक्ने के प्रॉब्लम से बहुत आराम मिलेगा। 

    • चंदन के तेल को अपने चेहरे पर लगा कर हाथों से मालिश करें फिर रात भर  छोड़ दें। सुबह गुनगुने पानी से चेहरे को साफ कर लें। इससे आपका चेहरा चमकदार और त्वचा मुलायम हो जायेगा।

    •  एक चम्मच खीरे के रस में एक बड़ा चम्मच दही ,एक छोटा चम्मच निम्बू के रस की कुछ बून्द और एक बड़ा चम्मच चंदन  पाउडर का लेप मिलकर तैयार कर लें। इस लेप  चेहरे पर 15 मिनट के लिए लगाकर छोड़ दें और फिर अपने चेहरे को धो लें। इससे आपका चेहरे का रंगत निखरता है। 

    •  एक चम्मच चंदन पाउडर में गुलाब जल मिलकर लेप तैयार करें ,इस लेप को अपने चेहरे पर लगाकर आधे घंटे के लिए छोड़ दें और फिर ठन्डे पानी से धो लें। इस लेप के नियमित इस्तेमाल से आपके चेहरे का अतिरिक्त तेल खत्म हो जायेगा।

    • एक बड़े चम्मच चन्दन पाउडर में नारियल तेल को मिलकर लेप बना लें और इस लेप को अपने चेहरे पर लगाएं। इससे आपके चेहरे के काळा धब्बे समाप्त हो जायेंगे।

 

 

RELATED POST-

 

Natural beauty tips

how to remove holi colours

positive shareing
1Shares

भय क्या होता है

Muni Shree Tarun Sagar ji

भय को आत्मविश्वास में बदलें ,डर को आस्था बनायें ,कम्पन को स्थिरता बनायें। डर अपनी कमजोरी से आता है ,विस्वास अपनी शक्तियों को जानने से उपजता है। आपके मन में भय क्या है ? व्यापार-उद्योग हेतु धन नहीं है। सरकारी नौकरियों के प्रवेश द्वार बंद है। आगे क्या होगा,बेरोजगारी,नौकरी मिल नहीं रही है।



 

 

भय क्या होता है ?बाह्यपूर्ण विचार एवं भययुक्त व्यवहार होता है। इसके अतरिक्त कोई भय नहीं होता। भय के राक्षसों से बचें,सबसे बड़ा भूत डर का है। बाह्य नाम की कोई चिड़िया नहीं होती है। यह एक मानसिक अवस्था है। आत्मविश्वास का विलोम है।भय को आत्मविश्वास में बदलें




 

आदतवश मन आभाव जीता है। कमियों को याद करता है। मन नकरात्मक है। सकरात्मक मन सदैव आशा में जीता है। उक्त प्रकार की सोंच से आपकी ऊर्जा का विकिरण हो जाता है। उसको सकरात्मक रूप देना है। हम आगे बढ़ेंगे,नौकरी मिलना कम हुआ है, पर बंद नहीं। अपने नकरात्मक पहलु को पहचानने की कोसिस करें।

आमतौर छह प्रकार के भय होते हैं –

 

असफलता का भय – असफलता एक घटना है,दुर्घटना है। यह स्थिति है व्यक्ति का असफल होना नहीं है। यह तो आपको बताता है आपको और मेहनत करना है। असफलता को एक चुनौती के रूप में स्वीकार करें।

असफलता की घटना से स्वयं को अलग करें। ज्यों ही आप भेद करेंगे भय आपका समाप्त हो जायेगा।

आलोचना का भय – आलोचना दो प्रकार की होगी या तो सही या गलत। अगर आपकी आलोचना कोई कर रहा है और आपके बारे में आलोचना कर रहा है तो दर कैसा ? ,जब आलोचना उचित है तो उसे स्वीकार करना चाहिए। आगे सुधार करें।

 

दूसरा आलोचना हो सकता है वो अनुचित हो ,तो यह याद रखें की यह आलोचना करना उस व्यक्ति की कमजोरी है ,उस पर ध्यान न दें। अपना कर्म करते रहें। आपकी कोई बुराई कर रहा है उसका मतलब है साफ है की आपमें कुछ दम है ,इसलिए यह आपकी अप्रत्यक्ष रूप से आपकी तारीफ कर रहा है और वो ईर्ष्या वश ऐसा कर रह है।

 

 

धन की कमी का भय -यह हम सबको रहता है पर इसको तो आप धन को कमाकर  ही दूर कर सकते हैं। पार्ट टाइम जॉब करें,टूयशन पदाएँ,बिज़नेस करें । खतरे मोल लें डरे नहीं।

 

 

धनवान कैसे बने

21 वी सदी का व्यवसाय

बेचना सीखो और सफल बनो

आपको बदलना होगा

 

बीमारी का डर – योगसन प्राणायाम ,सुबह आधा घंटा दौड़ना स्वास्थ्य हेतु जरुरी है। अगर आप ऐसा करेंगे तो बीमारी का भय दूर हो जायेगा।

 

 

प्रिय को खो जाने का डर – प्यार में एक बात ध्यान दें ,वास्तव में कोई प्यार करता है तो खोने का प्रश्न ही नहीं है एवं प्रेमी की स्थति बिगड़ने पर बदल जाता है तो अच्छा हुआ की उसका पता चला की आपसे उसे प्यार था ही नहीं ,तो खोने में कोई हर्ज नहीं है। स्वार्थी व्यक्ति समय और परिस्थितिओं के अनुसार बदलने वाला होता है।

 

मृत्य का भय -यह आदिकाल से है। यह प्राकृतिक है इसे स्वीकारो और वर्तमान में जियो। आज तक कोई दूसरी बार मरा नहीं है मृत्यु तो सभी समस्याओं को सम्पत कर देती है।

आपको यह याद रखना चाहिए की आप सिर्फ एक देह नहीं है ,आप एक शक्तिपूज हैं ,ऊर्जा के भंडार हैं। ऊर्जा कभी समाप्त नहीं होता है उसका रूपांतरण होता है।



positive shareing
1Shares

लोगों के मन जितने की कला

कुछ लोगों में यह कला उनकी प्रकृति में होती है है ,जिसे हम कौशल्य कहते हैं जबकि कुछ लोगों ने लोगों के मन जितने की कला को अपने आप विकसित किया है।

 

आप ऐसे कई लोगों को जानते होंगे की मन के साफ हैं ,नीतिवान हैं ,परिश्रमी हैं ,संस्कारी हैं,बुद्धिशाली भी फिर भी हमेशा तकलीफ में ही रहते हैं,क्यूंकि उनके पास सबकुछ है लेकिन लोगों के मन जितने की कला नहीं है।



यह कला सीखना अनिवार्य है

हम जंगल में रहने वाले कोई अकेले प्राणी नहीं हैं। मनुष्य होने के नाते हम सामजिक प्राणी हैं। हमारे दुःख-सुख ,सफलता विफलता सब कुछ समाज से जुड़ा हुआ है। हम जानते हैं की परिवार  समाज सब  एक-दूसरे  सहयोग  है  विकसित होते हैं।

 

 

अगर हम सभी क्षेत्रों में विकाश चाहते हैं ,तो लोगों का सहयोग पाना जरुरी है। लोगों का सहयोग पाने के लिए लोगों के मन की कला सीखना जरुरी है

 

 

लोगों के मन जितने की कला के लिए निम्नलिखित बातों पे गौर करें –

 

  1.  किसी को भी गलत साबित करने की कोसिस ना करें।

  2. काम की शुरुआत दोस्ती से करें।

  3. अपनी बात को ऐसे रखें की सामने वाला को वो अपनी बात लगे।



  4. किसी की भी आलोचना करने से दूर रहें

  5.  काम के लिए  चुनौती दें।

  6. आप दूसरे लोगों को महत्व दीजिये

  7. सीधे हुक्म या आदेश के वजाय आदेश देने की नै रीत अपनाइये।

  8. लोगों की सच्चे मन से प्रसंसा करने की आदत डालें

  9. कुछ भी आप बोलें या आप किसी को जवाब दें उस से पहले मुस्कुराएं

  10. आलोचना अकेले में करें।

  11. लोगों को नाम से पहचानने की,और उन्हें नाम से बुलाने की आदत डालें।

  12. भूल को स्वीकार दिल से करें ,सॉरी या धन्यवाद बोलने में मेहनत  करें।

  13. आपको लोगों को सुनने की आदत डालें ,सुनना भी एक कला है।

  14. आपको कयास जितना पसंद है दिल या दलील ? अगर दिल जितना है तो दलील छोड़िये।

  15. शुरुआत हमेशा सकरात्मक बातों से ही करें।



positive shareing
0Shares

शिखर तक पहुँचने के सात क़दम

शिखर तक पहुँचने के सात क़दम। आप इसे फ़ॉलो करके १००० प्रतिशत सफल हो सकते हैं , शिखर पर हो सकते हैं ।नीचे क्रमशः बताए गए शिखर तक पहुँचने के सात क़दम-

 

क़दम -1 सुबह जल्दी उठें , सुबह के पहले घंटे में शैक्षणिक , प्रेरक या आध्यात्मिक पड़कर स्वयं में निवेश करें जैसा कि हेनरी वार्ड बिचर ने कहा था , पहला घंटा हाई पूरे दिन की दिशा तय करता है  

 

हर दिन एक घंटे तक अपने क्षेत्र से सम्बंधित पुस्तकें पड़ने की बदौलत आप तीन से पाँच साल में राष्ट्रीय बिसेसज्ञ बन जाएँगे केवल इसी तथ्य से आपके कैरीअर में १००० प्रतिशत वृद्धि हो सकती है

 

क़दम – 2 अपने लक्ष्य हर दिन दोबारा लिखें  एक स्पेशल नोट बुक लें और सुबह बुक्स पड़ने के बाद अपने मुख्य लक्ष्य दोबारा लिखें हर दिन लिखें  

हर दिन सिर्फ़ लक्ष्य लिखने से दस वर्ष में आपकी आमदनी 1000 प्रतिशत बड़ जाएगी

क़दम -3 पूरे दिन की योजना पहले से बना लें एक सूची तैयार करें और काम शुरू केन से पहले प्राथमिकताएँ तय  परथमिकता तय कैसे करें

 

क़दम4 अनुशासित होकर किसी एक कार्य पे लग जाएँ – हर दिन जो सबसे महत्वपूर्ण कार्य कर सकते हों , उसे चुन लें फिर सबसे पहले इसे सुरु करें और तबतक करते रहें , जब तक कि यह कार्य पूरा ना हो जाए  




क़दम5 कार। चलाते समय शैक्षणिक ऑडीओ प्रोग्राम सुनें – कई लोग कार चलाते समय ऑडीओ सुन सुनके करोड़पति पति हैं कंगाल से  

 

क़दम – 6 हर कॉल या घटना के बाद दो जादुई सवाल पूछें  सबसे पहले तो ख़ुद से पूछें , मैंने क्या सही किया ? फिर ख़ुद से पूछें मैं क्या अलग करूँगा

 

क़दम – 7 हर व्यक्ति को मिलियन डॉलर वाला ग्राहक मानकर व्यवहार करें  जिस भी व्यक्ति से मिलते हैं या जिसके साथ काम करते हैं चाहे घर या ऑफ़िस में उनके साथ ऐसा व्यवहार करें की जैसा वह दुनिया का सबसे महत्वपूर्ण व्यक्ति हो आप यदि मूल्यवान और महत्वपूर्ण समझकर व्यवहार करते हैं तो वो भी आपके साथ ऐसा ही व्यवहार करेंगे आपके साथ रहना चाहेंगे , आपके साथ काम करना चाहेंगे , आपके काम करना चाहेंगे , आपसे सामान ख़रीदना चाहेंगे  

 

आप लोगों के साथ मिलियन डॉलर ग्राहकों जैसा व्यवहार कहाँ से सुरु करेंगे ? अपने परिवार के सदस्यों से ! यह भूलें की वे आपके जीवन में सबसे महत्वपूर्ण व्यक्ति हैं जब आप सुबहसुबह सबसे पहले अपने परिवार के सदस्यों को महत्वपूर्ण अनुभव कराते हैं और उनके प्रति अपना प्रेम जताते हैं आप दिन भर ज़्यादा सकारात्मक , आरामदेह और ख़ुश रहेंगे  

 

जब आप एक महीने तक हर दिन इन सातों क़दमों का अभ्यास करेंगे , तो इसके बाद आप अपने जीवन , कामकाज और आमदनी में ऐसे परिवर्तन और सुधार देखेंगे कि आप ख़ुद आश्र्य्चकित रह जाएँगे एक महीने के बाद आपको व्यक्तिगत सुधार की आदत पड़ जाएगी , जो आपको जीवन में आगे और ऊपर की तरफ़ ले जाएगी

 

 

उम्मीद करता हूँ की आपको शिखर तक पहुँचने के सात क़दम 

पसंद आया होगा । धन्यवाद ।

positive shareing
0Shares

Natural beauty tips

Natural beauty tips – हरे धनिया में खूबसूरती का राज  -अगर आप सोंचती हैं की की हरे धनिया का इस्तेमाल केवल चटनी या अन्य रेसिपी में सिर्फ गार्निश के तौर पर किया जाता है ।आज आपको बताते हैं धनिया का उपयोग आप अपने चेहरे पर भी कर सकते हैं।

 

 

हरे धनिया में छिपा है खूबसूरती का राज 

धनिया  एक बेहतरीन ब्यूटी प्रोडक्ट्स है। आपके घर में रखा धनिया आपके चेहरे पर ग्लो ला सकता है। बस लेकिन इस बात का ध्यान रखें की आप जब भी आप अपने चेहरे पर प्रयोग करें , ताजी धनिया  का ही प्रयोग करें। धनिये की पाती में एंटी-ऑक्सीडेंट गुण आपके चेहरे से पिम्पल्स ,एक्ने और झुर्रियों की परेशानी का रामबाण हो सकता है।

 

इस से फेस पैक चेहरे की कई प्रकार  को दूर करने में मददगार साबित  होता है। आइये जानते इस फेस पैक बनाने की विधि :-

चेहरे की रंगत निखारने के लिए : ताजी हरी धनिया के पत्ती  को बारीक़ पीस कर उसमें बेसन या शहद मिला लें। अब इस पेष्ट को अपने चेहरे के ऊपर लगाएं और हाँ अपने सेंसटिव चहरे के हिस्से को बचाते हुए जैसे आँख आदि को छोड़ते हुए लगाएं। इसे 20 मिनट तक लगा कर छोड़ें। और 20 मिनट बाद इसे गुनगुने पानी से धो लें। सप्ताह में दो बार इस पैक का करने से आपके चेहरे का रंग निखरने लगेगा।

 

ग्लोइंग फेस  स्किन के लिए : आधा  कटोरी पीसी हुई धनिया पत्ती में दही और एलोवेरा जेल डाल कर मिक्स कर लें। इसमें एक टी स्पून कोलोनाइट क्ले , गुलाब जल या कच्चा दूध मिला करके चेहरे पर 20 मिनट के लिए लगाएं। फिर इसे गुनगुने पानी से धो लें। इस पैक को लगाने से चेहरे पर ग्लो आता है।

 

कील मुहांसे – धनिया पत्ती को पीस कर उसमें एप्पल वेनेगर  मिलकर इसे अपने चेहरे पर लगाएं। इस पेस्ट  को सप्ताह में तीन-चार बार बार लगाएं इससे डेड स्किन निकल जाएगी। ढाई एड्जिंग इफेक्ट्स कम करता है।

 

ब्लैक हेड्स को मिटने के लिए – हरी धनिया की पत्ती को पीसकर उसमें अंडा का वाइट पार्ट और ओट्स पाउडर मिक्स करें। इसे स्क्रब की तरह उपयोग करें। हफ्ते में दो बार इसे करने  ब्लैक हेड्स निकल जायेंगे।

 

 

आपको ये मेरा post – Natural beauty tips – हरे धनिया में खूबसूरती का राज पोस्ट पसंद आया होगा ।

positive shareing
0Shares

How to Remove Holi Colours of your Face And Hair

DESI TIPS

HOLI

 how to remove holi colours of your face and hair -(अपने चेहरे और बालों के रंग को कैसे छुड़ाएं )होली(holi) अब हमारे नजदीक है पर उसके कुछ साइड इफेक्ट्स भी हैं , होली आता है तो रंग का डर भी सताने लगता है क्यूंकि आज कल के केमिकल्स  जल्दी निकलते ही नहीं हैं हमारे फेस और हेयर से। यहाँ पे कुछ टिप्स देने की कोसिस कर रहा हूँ आपके काम में आएँगी –

१ ) गेहूं के आटा और किसी भी प्रकार के खाने में उपयोग होने वाले तेल – आप एक पात्र में आटे को लेकर उसमें मिक्स होने लायक तेल मिलाएं अगर आपको पिम्पल्स है तो एलोवेरा मिलाएं और इसे उस जगह लगाएं जहाँ पे रंग लगा हो। नहाने से पहले।

२ ) बनाना पैक – अगर आपके होली खेलने के बाद आपके चेहरे का त्वचा सूखा-सूखा लगे तो आपके लिए ये जरूर काम आएगा। इसमें एक केला और इसे मैश लें एक बोन में और उसमें शहद एक चमच्च मिला लें और एक चमच्च दही मिला लें और इसे मिक्स कर लें अच्छी तरह और इसे अपने चेहरे पर लगाएं और इसे १० मिनट के लिए छोड़ दें। जब १० मिनट हो जाये तब इसे अच्छी तरह साफ़ कर लें

३ ) मेथी पाउडर – होली में आपके बालों पे रंग के कारण बहुत बुरा असर होता है ,और इसके लिए आप एक चमच्च मेथी पाउडर और चार चमच्च दही इसे अच्छी तरह मिला लें और इसे अच्छी तरह से अपने बालों पे अच्छी तरह अपने बालों पे लगाएं और इसे 15 मिनट के लिए छोड़ दें आपके बालों में शाइनिंग आ जायेगा।

 

४) लोगों को गलत फहमी होती है की रंग गर्म पानी से आसानी से छूट जाता है जबकि आप ये गलती न करें क्यूंकि हमेशा ठंढा पानी ही रंग को हटाने के लिए प्रयोग में लाएं।

५ ) साबुन का इस्तेमाल बिलकुल भी न करें क्यूंकि साबुन डैमेज स्किन को और ज्यादा डैमेज कर देता है या अच्छे फेस पैक क्लीन्ज़र का इस्तेमाल करें या फिर मॉइस्चाइजर क्रीम का इस्तेमाल करें

६ ) पपीता – होली का रंग उतारने  के लिए आप पका हुआ पपीता ले सकते हैं और इसे जहाँ पे रंग लगा हुआ है उस जगह पे इस्तेमाल  करें और इस पेस्ट को अपने सरीर और चेहरे पर १० मिनटों के लियू छोड़ देना है और फिर अपने शरीर और चेहरे को पानी से धो लेना है इस से आपका रंग  निकल  जायेगा

७ )  आप मुल्तानी मिटटी और गुलाब जल का इस्तेमाल भी कर सकते हैं इन दोनों अच्छे से मिलकर एक गाड़ा सा पेस्ट बना लें और इसे भी अपने शरीर और चेहरे पे लगा लें और इसे लगभग ५-१० मिनटों के लिए छोड़ दें और फिर पानी से धो लें ऐसा करने से भी आपका रंग उतर जायेगा।

उम्मीद करता हूँ दोस्तों आपको मेरा ये टिप्स काम आएगा। इसे मैंने कई वीडियो और ब्लॉग से लिया है आपके लिए। धन्यवाद।

positive shareing
0Shares