कभी हार ना मानें

कभी हार ना मानें
कभी हार ना मानें

लगन का सिद्धांत : कभी हार ना मानें
जब आपके पास समस्या हो , ख़ास तौर पर अगर यह मुश्किल , पेचीदा , भयंकर रूप से हताश करने वाली हो , तो मूलभूत सिद्धांत अपनायें और हमेशा याद रखें यह सिद्धांत -कभी हार ना मानें ।

पराजय के बारे में कभी बात ना करें – आप इस तरह अजेय नज़रिया विकसित कर सकते हैं ? इसका एक तरीक़ा तो यह है कि कभी पराजय के बारे में बात ना करें




सिद्धांत – कभी हार ना मानें ।

  1. किसी भी समस्या का मुक़ाबला करते समय पहली बात यह है की इस पर प्रहार करना ना छोड़ें । हमेशा लगन के सिद्धांत का प्रयोग करें ।

  2. याद रखें – आप मानसिक रूप से ऊँचे बनकर मुश्किलों के ऊँचे पर्वत को लाँघ सकते हैं ।

  3. इस सूत्र वाक्य का प्रयोग करें – हार मानना हमेशा जल्दीबाज़ी होता है । मैं कभी हार ना मानूँगा ।

  4. जोशिले शब्द का प्रयोग करें । कभी निराशा भारी बात का प्रयोग ना करें । अच्छे शब्द बोलेने का हमेशा कोसिस करते रहें ।

  5. जूझते रहने से आप जीत जाते हैं : कभी हार ना मानें ।

  6. अनुभूति के सिद्धांत में निपुण बनें । ख़ुद को जानना सीखें । अपने भीतर के असली व्यक्ति को पहचाने ।

  7. अगर आप पहली कोसिस में सफल नहीं होते हैं , तो कोसिस करें बार – बार करते रहें , जब तक आप सफल नहीं हो जाते और सिद्धांत याद रखें – कभी हार ना मानें ।

  8. परिस्तिथियों को ख़ुद को पराजित ना करने दें । अपने मस्तिष्क से परिस्थितियों को नियंत्रित करें , ना की परिस्थितियों को हावी होने दें अपने – आप पर । याद रखें – अगर आप ठान लेंगें तो आप कुछ भी कर सकते हैं ।

  9. बस लगातार जुटे रहें – बस कोसिस करते रहें – क्यूँकि इससे क़िला फ़तह हो जाएगा । लगातार आगे बड़ना है । सब ठीक हो जाएगा । बड़ते ही रहना है ।




  10. ईश्वर आपको पूरे समय आशीर्वाद देता रहता है – आप ईश्वर के पुत्र हैं वो कभी आपको हारने नहीं देगा बस आप उनपर भरोसा दिल से करें वो आपसे बहुत प्यार करते हैं ।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *